Mahadev Ji Ki Aarti Songs | Om Jai Shiv Omkara, Har Har Mahadev Lyrics

Mahadev Ji ke bahut sare naam hai. Koi unhe Har har har mahadev ki aarti se pujta hai to koi Om Jai shiv Omkara Aarti karke unki puja karta hai. yanha aaj hum aapko Mahadev Ji Ki Aarti ke kuch popular Songs lyrics ke sath bata rahe hain. Kedarnath Bhajan and Mahadev Ji ki aarti, Shiva Stuti, devotional songs and Kedarnath Movie Namo Namo Song in Hindi with lyrics.

Mahadev Ji ki Aarti Song | केदारनाथ धाम संध्या आरती

सत्य, सनातन, सुन्दर शिव! सबके स्वामी।
अविकारी, अविनाशी, अज, अंतर्यामी।।
हर-हर-हर महादेव

आदि, अनंत, अनामय, अकल कलाधारी।
अमल, अरूप, अगोचर, अविचल, अघहारी।। हर-हर…

ब्रह्मा, विष्णु, महेश्वर, तुम त्रिमूर्तिधारी।
कर्ता, भर्ता, धर्ता तुम ही संहारी।। हर-हर…

रक्षक, भक्षक, प्रेरक, प्रिय औघरदानी।
साक्षी, परम अकर्ता, कर्ता, अभिमानी।। हर-हर…

मणिमय भवन निवासी, अतिभोगी, रागी।
सदा श्मशान विहारी, योगी वैरागी।। हर-हर…

छाल कपाल, गरल गल, मुण्डमाल, व्याली।
चिताभस्म तन, त्रिनयन, अयन महाकाली।। हर-हर…

प्रेत पिशाच सुसेवित, पीत जटाधारी।
विवसन विकट रूपधर रुद्र प्रलयकारी।। हर-हर…

शुभ्र-सौम्य, सुरसरिधर, शशिधर, सुखकारी।
अतिकमनीय, शान्तिकर, शिवमुनि मनहारी।। हर-हर…

निर्गुण, सगुण, निरंजन, जगमय, नित्य प्रभो।
कालरूप केवल हर! कालातीत विभो।। हर-हर…

सत्, चित्, आनंद, रसमय, करुणामय धाता।
प्रेम सुधा निधि, प्रियतम, अखिल विश्व त्राता। हर-हर…

हम अतिदीन, दयामय! चरण शरण दीजै।
सब विधि निर्मल मति कर अपना कर लीजै।
हर-हर-हर महादेव।।

जय जय केदार… ॐ नमःशिवाय… हर हर महादेव जी…

Har Har Har Mahadev: Kedarnath Aarti Song Video

Source – YouTube

Om Jai Shiv Omkara Lyrics | Lord Shiv Aarti

mahadev ji ki aarti

ॐ जय शिव ओंकारा
प्रभु हर शिव ओंकारा
ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा
ॐ जय शिव ओंकारा

ॐ जय शिव ओंकारा
प्रभु हर शिव ओंकारा
ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा
ॐ जय शिव ओंकारा

एकानन चतुरानन पंचानन राजे
स्वामी पंचानन राजे
हंसासन गरूड़ासन
हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे
ॐ जय शिव ओंकारा

दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज अति सोहे
स्वामी दसभुज अति सोहे
त्रिगुण रूप निरखता
त्रिगुण रूप निरखता त्रिभुवन मन मोहे
ॐ जय शिव ओंकारा

अक्षमाला वनमाला मुण्डमाला धारी
स्वामी मुण्डमाला धारी
चन्दन मृगमद चंदा
चन्दन मृगमद चंदा भोले शुभ कारी
ॐ जय शिव ओंकारा

श्वेतांबर पीतांबर बाघंबर अंगे
स्वामी बाघंबर अंगे
ब्रह्मादिक संतादिक
ब्रह्मादिक संतादिक भूतादिक संगे
ॐ जय शिव ओंकारा

कर मध्ये च’कमंडलु चक्र त्रिशूलधरता
स्वामी चक्र त्रिशूलधरता
जग कर्ता जग हरता
जग कर्ता जग हरता जगपालन करता
ॐ जय शिव ओंकारा

ब्रह्मा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका
स्वामी जानत अविवेका
प्रणवाक्षर के मध्ये
प्रणवाक्षर के मध्ये ये तीनों एका
ॐ जय शिव ओंकारा

त्रिगुणस्वामी जी की आरति
जो कोइ जन गावे
स्वामी जो कोइ जन गावे
कहत शिवानन्द स्वामी
कहत शिवानन्द स्वामी मनवान्छित फल पावे
ॐ जय शिव ओंकारा

ॐ जय शिव ओंकारा
प्रभु हर शिव ओंकारा
ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा… ॐ जय शिव ओंकारा …

जय जय केदार… ॐ नमःशिवाय… हर हर महादेव जी…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + two =